March 3, 2024
sirdard se rahat Blog Banner (1)

आधुनिक जीवनशैली में तनाव, अनियंत्रित खानपान, दुर्बल शरीर और दिमाग की कमजोरी आदि कारणों से लोगों को आमतौर पर सिरदर्द की समस्या से गुजरना पड़ता है। सिरदर्द एक असहज अनुभव है, जिससे हमारे दैनिक जीवन का फिर से आनंदित अनुभव खो जाता है। योग एक ऐसा प्राचीन भारतीय विज्ञान है, जिसका उद्देश्य शरीर, मन, और आत्मा का संतुलन स्थापित करना है। इसलिए, योग के अभ्यास से सिरदर्द से राहत प्राप्त किया जा सकता है। इस लेख में, हम योग के अभ्यास से सिरदर्द से राहत कैसे लाये  इसके बारे में विस्तार से जानेंगे।

सिरदर्द के प्रकार:

सिरदर्द कई प्रकार का हो सकता है, जैसे कि माइग्रेन, टेंशन, साइनस, और सर्दर्द आदि। माइग्रेन वास्तविक रूप से एक प्रकार का बाधाग्रस्तीय सिरदर्द है, जिसमें अक्सर सिर के एक हिस्से में तीव्र दर्द होता है, जो एक तरफ से दूसरी ओर जाता है। टेंशन सिरदर्द मानसिक और शारीरिक तनाव के कारण होता है और यह आमतौर पर स्थायी तनाव के कारण होता है।

साइनस सिरदर्द नाक के पर्दों के संक्रमण के कारण होता है जो नाक की संरचना में सूजन के कारण होता है। यह दर्द सिर के चारों ओर महसूस होता है और ज्यादातर मामूली होता है। सर्दर्द को अनियंत्रित खानपान, तंबाकू पीना, या अधिक थकान आदि के कारण भी हो सकता है।

योग के अभ्यास से सिरदर्द से राहत:

योग का अभ्यास न केवल शारीरिक स्वास्थ्य को सुधारता है, बल्कि यह मानसिक शांति और स्थिरता का साधन भी है। निम्नलिखित योगासन और प्राणायाम सिरदर्द से राहत प्रदान करने में मदद कर सकते हैं:

1. शिशु आसन (Child’s Pose):

balasana

शिशु आसन शरीर को विश्राम देता है और माइग्रेन सिरदर्द को कम करने में मदद करता है। इसे आराम से बैठकर करें। घुटनों को मैंटेन करते हुए आगे की ओर झुकें, और हाथों को समर्थित रखें।   

2.भ्रमरी प्राणायाम (Bhramari Pranayama):

Bhramari Pranayama 5
google

भ्रमरी प्राणायाम में, श्वास लेने के बाद नाक को बंद करके अपने कानों के पास अंगूठों को रखें और मध्यम स्वर में हमेशा की तरह श्वास छोड़ें। इसे कुछ मिनट तक बार-बार करें। यह मन को शांत करता है और सिरदर्द से राहत प्रदान कर सकता है।

3.उत्तानासन (Uttanasana):

uttasana2

यह आसन पीठ और कमर की मांसपेशियों को तंग न करते हुए सिरदर्द को कम करने में मदद करता है। खड़े होकर, साँस छोड़ते हुए शरीर को आगे की ओर झुकाएं और धीरे से सांस लें।

What is the flutter kick pose?

4. शवासन (Shavasana):

shavasan 1

शवासन एक आरामदायक आसन है जो सिरदर्द को कम करने के लिए उपयुक्त है। इस आसन में लेट जाएं और अपने शरीर को पूरी तरह से शांत करें। ध्यान देकर साँस लें और सिरदर्द को दूर भागाएं।

5. अनुलोम विलोम प्राणायाम (Anulom Vilom Pranayama):

anuloma-viloma-breathing-pranayama
google

अनुलोम विलोम प्राणायाम नाक की साँस को नियंत्रित करने में मदद करता है और सिरदर्द को कम कर सकता है। इसे बैठे रहकर, दायें नाक से साँस लें और बाएं नाक से छोड़ें। ध्यान रखें कि श्वास को धीरे से और समय बढ़ाकर लें।

निष्कर्ष

योग के अभ्यास से सिरदर्द से राहत प्राप्त करना एक सुगम और प्राकृतिक तरीका है। योगासन और प्राणायाम को नियमित रूप से अभ्यास करने से आप अपने शरीर और मन को स्वस्थ रख सकते हैं और सिरदर्द से निजात पा सकते हैं।

याद रखें, योग का अभ्यास सही तरीके से करना महत्वपूर्ण है, इसलिए एक प्रशिक्षित योग गुरु की मार्गदर्शन में अभ्यास करें। सच्चे मानसिक शांति और स्वस्थ्य जीवन के लिए, योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं और सिरदर्द से पाएं पूरी राहत।

योग से तनाव का सामना कैसे करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *